Tags

, , , ,

बिहार कैबिनेट ने प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी पर अपनी मुहर लगा दी। आज आठ एजेंडों पर मुहर लगाते हुए कैबिनेट ने यह फैसला सुनाया कि अब राज्य में देसी के साथ ही विदेशी शराब पर भी प्रतिबंध लागू हो जाएगा।

कैबिनेट की बैठक के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस फैसले को सुनाते हुए कहा कि एक अप्रैल से राज्य में देसी शराब और मसालेदार शराब पर पाबंदी लगाई गई थी लेकिन अब अंग्रेजी शराब भी पूर्ण प्रतिबंधित हो गया है और यह तत्कालीन रुप से लागू हो जाएगा।

नीतीश कुमार ने कहा कि शराबबंदी के लिए बिहार पूरे देश में उदाहरण बनेगा। बिहार में देसी, अंग्रेजी शराब के साथ ही ताड़ी पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है। अब शराब पीने वालों, बेचने वालों और व्यापार करने वालों पर पाबंदी लगा दी गई है और एेसा करने वालों पर नई उत्पाद नीति के तहत कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि अब बिहार में होटलों और बार में शराब नहीं मिलेगी लेकिन मिलिट्री के कैंटीन में उपलब्ध रहेगी।

मुख्यमंत्री ने शराबबंदी के लिए राज्य के नागरिकों की भागीदारी के लिए उनको धन्यवाद दिया, खासकर राज्य की महिलाओं को तहे दिल से शुक्रिया कहा। नीतीश कुमार ने कहा कि राज्य में शराबबंदी का बेहतर माहौल है और 12,580000 लीटर शराब को अबतक नष्ट कर दिया गया है, यहां के लोगों में खुशी का माहौल है।

ताड़ी पर प्रतिबंध लगाए जाने के बारे में नीतीश ने कहा कि ताड़ी में भी मादक गुण मौजूद होते हैं वह भी नशीला पेय है और उसपर भी तत्कालीन प्रतिबंध लागू होगा। उन्होंने कहा कि हाट-बाजार में या सार्वजनिक जगहों पर ताड़ी की दुकानें नहीं खुलेंगी। ताड़ी की जगह नीरा को प्रोत्साहित किया जाएगा। नीरा स्वास्थ्यवर्धक होता है उसमें मादकता नहीं होती।

Source: नीतीश सरकार का फैसला, बिहार में पूर्ण शराबबंदी, देसी के साथ विदेशी भी बंद

Advertisements