Tags

, , , ,

क्या जर्मनी में रह रहे शरणार्थियों के बच्चे आईएसआईएस के निशाने पर हैं ? या उन्हें तस्करी के धंधे में उतारने की बड़ी साजिश हो रही है ? ये दोनों ऐसे सवाल हैं जिनका जवाब जर्मनी की सरकारी एजेंसिया देने से बच रही हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक साल 2015 में करीब 6 हजार नाबालिग बच्चे जर्मनी से गायब हैं। सरकारी एजेंसियां इन बच्चों के गायब होने की कोई पुख्ता वजह नहीं बता रही हैं लेकिन खुफियां जानकारी के अनुसार गायब हुए बच्चों का इस्तेमाल आईएस आतंकी अपने नापाक इरादों को अंजाम देने के लिए कर सकते हैं।

अंग्रेजी न्यूज एजेंसी आरटी के मुताबिक गायब होने वालों बच्चों में ज्यादातर अफगानिस्तान,सीरिया, अल्जीरिया, इरीट्रिया और मोरक्कों के हैं। इस मामले में जर्मनी की सरकार ने जांच कराने के आदेश दिए हैं लेकिन ग्रीन पार्टी के लुई एम्सबर्ग ने कहा कि सरकार नाबालिग शरणार्थी बच्चों की गुमशुदगी के लिए गंभीर नहीं है।

जर्मन चाइल्ड प्रोटेक्शन एजेंसी के अध्यक्ष का कहना है कि सरकार नाबालिगों की गुमशुदा बच्चों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। इससे पहले यूरोपोल ने कहा था कि यूरोप के सभी मुल्कों में शरण लिए हुए करीब 10 हजार बच्चे लापता हैं। जिनके बारे में सभी देशों को एकजुट होने की जरूरत है। Read more http://www.jagran.com

Advertisements