Tags

, , , ,

एनआइए अफसर तंजील अहमद की हत्या के मामले में यूपी पुलिस ने खुलासा किया है। पुलिस के मुताबिक मुनीर ही मास्टर माइंड था। उसने ही तंजील अहमद को गोली मारी थी। इस मामले में गिरफ्जातार रेयान से ये जानकारी सामने आयी है कि वो खुद मोटरसाइकिल चला रहा था और मुनीर पीछे बैठा था। तंजील अहमद की कार को ओवरटेक किया गया । और कार को रुकवा कर उन्हें निशाना बनाया गया। वारदात के बाद मुनीर घर चला गया। हालांकि मास्टरमाइंड मुनीर अब भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है।

यूपी पुलिस ने तंजील अहमद की हत्या में आतंकी भूमिका को सिरे से खारिज कर दिया। पुलिस के मुताबिक एनआईए अफसर की हत्या आपसी रंजिश का नतीजा थी।

पुलिस के मुताबिक मुनीर के साथ तंजील अहमद का एक दुकान को लेकर विवाद था। इसके अलावा मुनीर को ये शक था कि तंजील उसकी मुखबिरी कराते थे। रेयान के मन में तंजील के लिए बहुत गुस्सा था। उसे लगता था कि तंजील उसकी जिस तरह से मदद कर सकते हैं वो मदद नहीं करते हैं।

पुलिस ने दो लोगों की गिरफ्तारी की है। सोमवार को गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपियों का नाम रियान और जुनैल बताया जा रहा है। इस हत्याकांड में ये पहली गिरफ्तारी है। यूपी पुलिस ने इस कार्रवाई के बाद केस को सुलझाने का दावा किया है।

यूपी पुलिस ने अपनी शुरुआती जांच में कहा था कि हत्या के पीछे आपसी रंजिश है। मुनीर की गिरफ्तारी के बाद पुलिस को मर्डर का मकसद और साफ हो पाएगा।

फोर्टिस अस्पताल में भर्ती होने के नवें दिन एनआइए के अफसर रहे तंजील अहमद की पत्नी फरजाना खातून को इलाज के लिए AIIMS भेज दिया गया। सोमवार को दोपहर में फरजाना के परिजन उन्हें AIIMS ले गए।

फरजाना की हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है। फरजाना को AIIMS भेजे जाने पर अस्पताल मैनेजमेंट की तरफ से कहा गया है कि फरजाना को इलाज के लिए AIIMS ले जाना उनके परिजनों का व्यक्तिगत फैसला था।

फरजाना फिलहाल वेंटीलेटर पर है और उनकी हालत नाजुक बनी हुई है। फोर्टिस अस्पताल मैनेजमेंट की तरफ से कहा गया है कि फरजाना जब तक यहां पर थीं उनका बेहतर तरीके से इलाज किया गया।

Source: यूपी पुलिस का खुलासा, NIA अफसर तंजील को मुनीर ने मारी थी गोली

Advertisements