Tags

, , , , ,

शनि शिंगणापुर मंदिर में महिलाओं के प्रवेश का विवाद खत्म होते ही अब एक और नया विवाद शुरू हो गया है। कोल्हापुर स्थित महालक्ष्मी मंदिर में प्रवेश के दौरान स्थानीय लोगों ने भूमाता रणरागिनी ब्रिगेड की अध्यक्ष तृप्ति देसाई की पिटाई कर दी। घटना में तृप्ति देसाई घायल हो गईं। फिलहाल उन्हें कोल्हापुर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

अस्पताल में भर्ती तृप्ति देसाई ने बताया कि जब बुधवार की रात महालक्ष्मी मंदिर में उन्हें और उनके साथियों को दर्शन के लिए लाया गया तो कुछ लोग उन लोगों पर हमला किया। उन्होंने बताया कि पुजारी भी उनलोगों के लिए अभद्र भाषा का इस्तेमाल कर रहे थे।

देसाई ने ये भी कहा कि हमलावर कह रहे थे कि तृप्ति देसाई को जिंदा बाहर नहीं जाने देना। उन्होंने बताया कि हमलावरों ने उनके बाल खींचे, कपड़े फाड़ दिये और गालियां देने लगे। तृप्ति देसाई ने इस मामले में प्रदेश के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की अपील की है।

वहीं कोल्हापुर के निजी अस्पताल में भर्ती तृप्ति देसाई की हालत पर डॉक्टर अर्जुन अदनिक ने कहा कि हो सकता है कि उनपर लकवा का अटैक हो। जब उन्हें यहां गया था तब उनमें पानी की कमी थी, उनका बीपी (ब्लड प्रेशर) लो था और सुगर लेवल भी नीचे चला गया था। लेकिन अब वे पहले से ठीक हैं और रिकवरी कर रही हैं।

तृप्ति देसाई बुधवार शाम को 50 महिलाओं के साथ कोल्हापुर में महालक्ष्मी मंदिर दर्शन करने पहुंची थीं, लेकिन यहां की पुलिस ने कानून व्यवस्था के मद्देनजर इन्हें रोक लिया गया। उसी दौरान समर्थकों ने जोरदार नारे बाजी शुरु की जिसके बाद तृप्ति समेत सबको हिरासत में ले लिया गया।

पुलिस ने दिया साड़ी पहनकर कर आने का निर्देश

पुलिस ने भूमाता रणरागिनी ब्रिगेड की अध्यक्ष तृप्ति देसाई को साड़ी पहनकर नहीं आने के कारण मंदिर परिसर में प्रवेश करने से पहले ही रोक दिया। इससे पहले कोल्हापुर पुलिस ने देसाई को साड़ी पहनकर मंदिर में आने का निर्देश दिया है। लेकिन, तृप्ति ने पुलिस के इस निर्णय को मानने से इन्कार कर दिया था। Read more http://www.jagran.com

Advertisements