Tags

,

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के जनता दरबार में आज उस समय अफरा-तफरी मच गई, जब एक युवक ने उनपर चप्पल उछाल दिया। नीतीश कुमार उसकी समस्या सुन ही रहे थे कि उसने अपने पास रखा पेपर निकाला और उसे मुख्यमंत्री के उपर फेंक दिया। फिर, चप्पल उछाल दिया। वह सरकार के एस आदेश से खफा था, जिसके अनुसार सुबह नौ बजे से शाम छह बजे तक खाना बनाने या पूजा-पाठ के लिए आग जलाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

गुस्साए युवक ने मुख्यमंत्री से सवाल किया कि आप हिंदू नहीं हैं क्या? नौ बजे के बाद पूजा-पाठ क्यों बंद करा दिये हैं? युवक द्वारा फेेंका गया पेपर नीतीश के शरीर से जा लगा। इसे देखते ही वहां मौजूद सुरक्षाकर्मियों के होश उड़ गए। सुरक्षा कर्मियों ने युवक को पकड़ लिया।

सीएम के जनता दरबार में बेहोश हुआ युवक

जनता दरबार में और एक घटना देखने को मिली जहां गर्मी की वजह से एक युवक बेहोश हो गया। बेहोश हुए युवक जनता दरबार के दौरान अचानक बीमार हो गया। उसने तेज पेट दर्द की शिकायत की। वह दर्द के मारे काफी देर तक चिल्लाता रहा।

बाद में जनता दरबार में तैनात सुरक्षाकर्मी उसे डॉक्टर के पास ले गए, जहां उसका इलाज किया गया। बाद में उसे प्राथमिक इलाज के बाद पीएमसीएच रेफर किया गया है।

महिला ने लगाई गुहार- मेरा बेटा ढूंढ दीजिए

जनता दरबार में दरभंगा से आई महिला नसीमा खातून ने मुख्यमंत्री से बेटे की बरामदगी के लिए गुहार लगाई। दरभंगा के बेता मुहल्ला की रहने वाली नसीमा के बेटे का तीन साल पहले अपहरण हुआ था। तीन साल बीत जाने के बाद भी पुलिस उसके बेटे को बरामद नहीं कर सकी है।

उसने बताया कि आरोपी केस उठाने के लिए परेशान कर रहे हैं और जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। महिला की शिकायत सुनने के बाद डीजीपी ने उसे कार्रवाई का भरोसा दिलाया। Read more http://www.jagran.com/

Advertisements