Tags

, , , , ,

आम आदमी पार्टी ने दिल्ली विश्वविद्यालय के समक्ष तीन यक्ष सवाल पूछ कर गेंद को विश्वविद्यालय प्रशासन के पाले में डाल दिया है। देखना यह है कि इन सवालों को जवाब डीयू प्रशासन देता है कि नहीं। आप नेताओं के इन सवालों के बाद भाजपा ने ऐलान किया है कि आज इन सारे प्रश्नों का उत्तर देगी। इस बाबत आज एक पीसी का आयोजन भी किया गया है।

प्रधानमंत्री की डिग्री सौ फीसद सही : डीयू

आप नेताओं ने दिल्ली विश्वविद्यालय के वीसी से उनकी डिग्री को दिखाने की मांग की थी। लेकिन डीयू प्रशासन ने इस मांग को सिरे से खारिज कर दिया। डीयू प्रशासन का तर्क था कि किसी की डिग्री के देखने का अन्य किसी को हक नहीं है। जबकि आप नेता इसे सार्वजनिक करने पर अड़े हैं।

भाजपा ने सार्वजनिक की पीएम मोदी की डिग्री

राष्ट्रीय भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने मीडिया के समक्ष प्रधानमंत्री की डिग्री को दिखाया और कहा अब इस मामले में अरविंद केजरीवाल को देश से माफी मांगना चाहिए। इसके बाद आप नेताओं ने माफी के बजाए डिग्री पर प्रश्नचिन्ह लगा दिया।

हालांकि इस मामले में अन्य प्रमुख दलों की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। विपक्ष ने इस पूरे मामले में चूप है। लेकिन आम आदमी पार्टी के नेताओं ने इस अपना एेजंडा बना लिया है। उनकी बात में कितना सच्चाई है यह तो समय बताएगा।

आप के यक्ष सवाल
1 – प्रधानमंत्री मोदी की BA और MA की डिग्री में नाम में भिन्नता है। मार्कशीट पर नाम नरेंद्र कुमार दामोदर दास मोदी है, जबकि बीए डिग्री में नरेंद्र दामोदर दास मोदी है। आप नेता का कहना है कि यह असंभव है। नाम में बदलाव अवैध है।

2- दिल्ली विश्वविद्यालय का लोगो एक है। लेकिन मोदी की डिग्री और डीयू की डिग्री में भिन्नता है। यह कैसे हो सकता है कि एक विश्वविद्यालय के दो लोगो हैं।

3- आप नेताओं का आरोप है कि डिग्री में नाम और अंक हस्तलिखित है। जबकि ऐसा नहीं हाेता है। मूल डिग्री में नाम हस्तलिखित नहीं होना चाहिए।

4- आप नेताओं का कहना है कि एक तरफ विश्वविद्यालय का कहना है कि वह पुराने रिकार्ड नहीं रखता है, दूसरी और रजिस्टार का दावा है कि डिग्री की मिलान किया गया है। यह दोनों विरोधाभाषी बाते हैं। इससे लगता है कि दाल में कुछ काला है।

भाजपा का दावा

1- भाजपा का कहना है डीयू ने डिग्री को सही माना है। पार्टी ने डिग्री को देश के समक्ष दिखा दिया तो फिर आप नेता इस तरह की हरकत से क्या सिद्ध करना चाहते हैं। उनका स्टैंड समझ से परे है।

2- पार्टी का कहना है आम आदमी पार्टी विकास के मुद्दे से भटकर दिल्ली की जनता का ध्यान दूसरी ओर बांटना चाहती है। इसलिए उसके पास कोई मुद्दा नहीं है तो उसने इस प्रकार की हरकत की है। Read more http://www.jagran.com/

Advertisements