Tags

, , , ,

निरंकारी संप्रदाय के प्रमुख बाबा हरदेव सिंह की कनाडा में एक सड़क हादसे के दौरान मौत हो गई है। प्राप्त खबरों के अनुसार, यह दुर्घटना कनाडा के मॉन्ट्रियल शहर में हुई। दुर्घटना का कारण गाड़ी का टायर फटना बताया जा रहा है। घटना के बाद निरंकारी समाज में शोक की लहर फैल गई है। हादसे के वक्त उनके दो दामाद भी उनके साथ थे जिनमें एक की हालत गंभीर बनी हुई है।

निरंकारी संप्रदाय के मीडिया इंचार्ज गुलशन राय ठकुराल ने जानकारी दी कि बाबा कार से कनाडा के मॉन्टियल दुर्घटना के बाद बाबा को अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी मौत हो गई। बाबा के निधन से देश-विदेश में रहने वाले उनके अनुयायियों में शोक की लहर दौड़ गई है। निरंकारी संस्था की 27 देशों में 100 शाखाएं हैं। हादसे में हरदेव सिंह के अलावा उनके दामाद अवनीत की भी मौत हुई है। बाबा का परिवार इस समय कनाडा में ही है।

भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन ने ट्विटर के जरिए लिखा है, “बाबा की मौत इस देश के लिए एक गहरी क्षति है। उन्होंने देश के लोगों के लिए बहुत सेवा की। ”

संत निरंकारी मिशन के प्रमुख बाबा हरदेव सिंह का जन्म 23 फरवरी, 1954 को हुआ था। उन्होंने दिल्ली के संत निरंकारी कॉलोनी स्थित रोजेरी पब्लिक स्कूल से प्रारंभिक शिक्षा ग्रहण की थी। उसके बाद 1963 में उन्होंने पटियाला के बोर्डिंग स्कूल यादविंद्र पब्लिक स्कूल में दाखिला लिया। दिल्ली यूनिवर्सिटी से उन्होंने उच्च शिक्षा ग्रहण करने के बाद उन्होंने 1971 में एक सदस्य के रूप में निरंकारी सेवा दल ज्वॉईन कर लिया। 1975 में एक वार्षिक निरंकारी संत समागम के दौरान दिल्ली में उनकी शादी सविंदर कौर से हुई। अपने पिता की मौत के बाद 1980 में वे संत निरंकारी मिशन के मुखिया बने। उन्हें सतगुरू की उपाधि दी गई।  1929 में बाबा बूटा सिंह द्वारा संत निरंकारी मिशन की स्थापना की गई थी। (एएनआई इनपुट्स के साथ जेएनएन)  Read more http://www.jagran.com/

Advertisements