Tags

, , , , ,

राज्यसभा में सांसदों के विदाई संबोधन में पीएम ने कहा कि वरिष्ठ सांसदों की मौजूदगी से बहुत कुछ सीखने को मिलता है। ऊपरी सदन से सोच को विस्तार दिया है। लेकिन सांसदों के संबोधन के दौरान जीएसटी पास न होने पर उनका दर्द भी झलका। उन्होंने कहा कि अगर जीएसटी पास गया होता तो ये आपके राज्यों के लिए बहुत अच्छा हुआ होता।

राज्यसभा में 53 सांसदों को विदाई दी जा रही है। जिनका कार्यकाल खत्म हो रहा है। रिटायर होने वाले सांसदों की फेयरवेल स्पीच के बाद राज्यसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हो जाएगी। वहीं जून में खाली सांसदों से खाली हुई सीटों पर चुनाव कराए जाएंगे। विधानसभाओं नें पार्टियों की स्थिति तो देखते हुए बताया जा रहा है एनडीए को बढ़त हासिल होगी हालांकि वो बहुमत से दूर ही रहेगी। वहीं कांग्रेस को नुकसान का सामना करना पड़ सकता है।

राज्यसभा में पार्टियों की तस्वीर

245 सदस्यों के हाउस में अभी एनडीए के पास 62 सांसद हैं। सात मनोनीत सदस्यों के शामिल करने के बाद एनडीए के 69 सांसद हो जाते हैं। कांग्रेस के पास 61 सांसद हैं। उसकी सहयोगी पार्टियों की संख्या मिला दें तो यूपीए के 80 सांसद हो जाते हैं।
इसमें भी AIADMK, बीजेडी, तृणमूल, सपा और बसपा को मिला दें तो गैर-एनडीए सांसदों की संख्या 90 हो जाती है। नए सदस्यों का चुनाव 11 जून को होगा। 30 जून को राज्यसभा के एक तिहाई सदस्य रिटायर होंगे। यहां सांसदों का टर्म 6 साल का होता है। हर दो साल में एक तिहाई मेंबर्स रिटायर होते हैं।

किसके खाते में कितनी सीट

बीजेपी के 14 सांसद रिटायर हो रहे हैं। 57 सीटों पर इलेक्शन के बाद उसे 18 सीटें मिल सकती हैं। यानी वह 4 सीटों के फायदे में रहेगी। यानी 49 सीटों वाली बीजेपी राज्यसभा में 53 सीटों तक पहुंच जाएगी। कांग्रेस के अभी 61 सांसद हैं। उसके भी 14 सांसद रिटायर हो रहे हैं। लेकिन उसे उम्मीद है कि चुनाव के बाद उसकी संख्या 60 बनी रहेगी।

बीजेपी को कितना मिलेगा फायदा ?

बीजेपी को कुछ सीटों का फायदा हो सकता है लेकिन उसकी संख्या इतनी नहीं बढ़ेगी कि वह राज्यसभा में बड़े बिल पास कराने की स्थिति में आ जाए। मोदी सरकार के पांच मंत्री- वेंकैया नायडू, पीयूष गोयल, निर्मला सीतारमण, वाईएस चौधरी और मुख्तार अब्बास नकवी का टर्म खत्म हो रहा है। नायडू के पास पार्लियामेंट्री अफेयर्स और अर्बन डेवलपमेंट मिनिस्ट्री है। उनकी संसद में वापसी तय है। आंध्र से 4 सीटें हैं। एक सीट वाईएसआर कांग्रेस और बाकी तीन बीजेपी-टीडीपी को मिलेंगी। ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल और मुख्तार अब्बास नकवी यूपी से वापसी कर सकते हैं।

क्या कांग्रेस को होगा फायदा ?

कांग्रेस को आंध्र या तेलंगाना से कोई राज्यसभा सीट नहीं मिल सकेगी। केरल विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की परफॉर्मेँस राज्यसभा में उनकी राह तय करेगी। पंजाब में भी कांग्रेस को परेशानी है। वहां से उसके तीन सांसद रिटायर हो रहे हैं। लेकिन दो की ही वापसी हो सकेगी। ऑस्कर फर्नांडीज कर्नाटक से रिटायर हो रहे हैं। उनकी जगह कांग्रेस पूर्व मंत्री पी चिदंबरम की एंट्री करा सकती है।

यूपी में किसे होगा फायदा ?

बीएसपी के पास लोकसभा में कोई मेंबर नहीं है। अब राज्यसभा से उसके 6 सांसद रिटायर हो रहे हैं। इनमें पार्टी में नंबर 2 सतीश चंद्र मिश्रा भी शामिल हैं। बीएसपी अपने दो और बीजेपी-कांग्रेस एक-एक नेता को चुन सकेगी। मुलायम सिंह यादव की समाजवादी पार्टी से किसी नेता के चुने जाने की संभावना नगण्य है।

जून में राज्यसभा के लिए होंगे चुनाव

राज्यसभा की 57 सीटों के लिए चुनाव 11 जून को कराए जाएंगे। इसमें शराब व्यवसायी विजय माल्या द्वारा खाली की गई एक सीट भी शामिल है। चुनाव आयोग ने यह जानकारी दी। बिहार से पांच सीटों पर चुनाव कराए जाएंगे, जबकि आंध्र प्रदेश और कर्नाटक से चार-चार सीटों पर चुनाव होंगे। वहीं मध्य प्रदेश और ओड़िशा से तीन-तीन सीटों, हरियाणा, झारखंड, पंजाब, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना से दो-दो सीटों और उत्तराखंड से एक सीट पर चुनाव होने हैं। Read more http://www.jagran.com/

Advertisements