Tags

, , , , ,

पति के साथ सुकूून की जिंदगी गुजार रही युवती की जिंदगी में एक दिन ऐसा तूूफान आया कि उसका सबकुछ तबाह हो गया। एक वक्त ऐसा भी आया जब युवती को रोजी रोटी के लिए जिस्मफरोशी तक करनी पड़ी। खासकर अपने दुधमुंहे बच्चे की खातिर वह कोठे पर बिकने के लिए भी तैयार हो गई।

20 साल से भी कम उम्र में शादी, 22 में हो गई विधवा

खुशहाल जिंदगी सेे जिस्मफरोशी तक का सफर तय करने वाली युवती की शादी 20 साल से भी कम उम्र में हुई थी। खुशी ज्यादा समय तक नहीं रही और महज 22 साल की उम्र में पति की मौत ने उसे दर्द के अंधेरे कोने में थकेल दिया। पति की मौत के समय युवती की गोद में दो साल का बच्चा था।

युवती यूं फंसी जिस्मफरोशी के दलदल में

पति की मौत के बाद युवती आर्थिक संकट में आ गई। उसके दूधमुंंहे बच्चे का जीवन निर्वाह कर पाना भी उसके लिए मुश्किल हो गया था। मां की तरह प्यार व दुलार देने वाली विजयलक्ष्मी नामक महिला के संपर्क में पीडि़ता आई। विजयलक्ष्मी उसे घरेलू नौकरानी का काम दिलाने का झांसा देकर दो लाख रुपये में कोठे पर बेच दिया गया।

अब जीबी रोड के कोठा संख्या-57 पर कई माह तक जबरन देह व्यापार का शिकार बनी कर्नाटक की महिला के मामले में क्राइम ब्रांच ने आरोप पत्र दाखिल कर दिया है।

कोठे पर बतौर नाइका (सहायक) काम करने वाली दो महिला राधिका (50) और ज्योति (30) को आरोपी बनाया गया है, जबकि कोठे की मालकिन और युवती को बेचने वाली महिला अब भी फरार है। राधिका फिलहाल न्यायिक हिरासत में जेल में बंद है, जबकि ज्योति को जमानत मिल चुकी है।  Read more http://www.jagran.com/

Advertisements