Tags

, , ,

कांग्रेस नेता और पूर्व गृहमंत्री शिवराज पाटिल ने बटला हाउस एनकाउंटर को सही ठहराया है। पाटिल ने कहा कि बटला हाउस एनकाउंटर को लेकर उन्हें कभी कोई शक नहीं था क्योंकि ये एक सही एनकाउंटर था।

पाटिल का बटला हाउस एनकाउंटर पर दिया ये बयान पार्टी लाइन से हटकर माना जा रहा है क्योंकि दिग्विजय सिंह समेत कई कांग्रेस नेता इस एनकाउंटर को फर्जी बताकर मामले में जांच की मांग कर रहे थे।

बता दें मामले में भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने एनआईए जांच की मांग की है।

मोदी सरकार के कामकाज की तारीफ

शिवराज पाटिल ने मोदी सरकार के कामकाज की जमकर तारीफ भी की है। पाटिल ने कहा मोदी सरकार ने अच्छे कदम उठाए हैं। साथ ही चार राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में हार के बाद पाटिल ने कांग्रेस में बड़े बदलाव की मांग की उन्होंने कहा कि कांग्रेस में बड़े स्तर पर बदलाव का समय आ गया है।

आतंक का मजहब नहीं

पाटिल ने साफ कहा कि आतंक का कोई मजहब नहीं होता और इसे किसी मजहब के चश्मे से नहीं देखा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि गलत विचारधार हमेशा समाज के लिए खतरनाक है।

क्या है बटला हाउस एनकाउंटर केस?

13 सितंबर 2008 को दिल्ली में सीरियल ब्लास्ट हुए थे। इन सीरियल ब्लास्ट में कई लोगों की जान चली गई थी। दिल्ली पुलिस को सूचना मिली कि इस बम ब्लास्ट को अंजाम देने वाले आतंकी दिल्ली के बटला हाउस स्थित एक मकान में छुपे हए हैं।

आतंकियों की धरपकड़ के लिए इंस्पेक्टर मोहन चंद शर्मा की अगुवाई में सात सदस्यीय टीम मकान नंबर एल-18 पर छापा मारने पहुंची थी। इसी दौरान वहां मौजूद पांच आतंकियों ने पुलिसकर्मियों पर फायरिंग शुरु कर दी। फायरिंग में इंस्पेक्टर शर्मा समेत दो पुलिसकर्मी घायल हो गए। वहीं जवाबी फायरिंग में पुलिस ने दो आतंकी आतिफ अमीन और मोहम्मद साजिद को मार गिराया। जबकि दो आतंकी मोहम्मद सैफ और जीशान को गिरफ्तार कर लिया था लेकिन एक आतंकी भागने में सफल रहा।

एनकाउंटर में घायल इंस्पेक्टर शर्मा की इलाज के दौरान मौत हो गई। पुलिस के अनुसार एनकाउंटर के बाद शहजाद उस फ्लैट से भाग गया था पुलिस को शहजाद का पता एक आतंकी के बयान से पता चला। पुलिस ने शहजाद को गिरफ्तार किया तो उसने मामले में एक अन्य आरोपी जुनैद का नाम भी लिया हालांकि उसे पकड़ा नहीं जा सका उसे बाद में भगोड़ा घोषित किया गया। Read more http://www.jagran.com/

Advertisements