Tags

, , ,

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (बिहार बोर्ड) के टॉपर्स को विषय की मूलभूत जानकारी नहीं होने की पोल खुलने के बाद सरकार सकते में है। इसने बिहार बोर्ड में शिक्षा माफियाओं की सक्रियता के आरोपों को भी बल दिया है। शिक्षा व परीक्षा की कलई खुलने के बाद शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने जांच के आदेश दिए हैं। इस बीच बोर्ड ने विवादों में आए आर्ट्स टॉपर रूबी रॉय व साइंस टॉपर सौरव श्रेष्ठ के रिजल्ट पर रोक लगा दी है।

मीडिया में टॉपर्स की हकीकत सामने आने के बाद शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने परीक्षा घोटाला में दोषी पाए जाने वाले तत्वों पर कड़ी कार्रवाई का आश्वासन दिया है। उन्होंने दोषी कर्मियों को नौकरी से बरखास्त करने की भी बात कही है।

बिहार बोर्ड ऑफिस में आपातकालीन बैठक का आयोजन कर मामले पर विचार किया जा रहा है। चर्चा गर्म है कि बोर्ड के अध्यक्ष लालकेश्वर प्रसाद सिंह को हटाया जा सकता है। अध्यक्ष जदयू नेत्री उषा सिन्हा के पति हैं।

यह है मामला

विदित हो कि बीते दिन बिहार बोर्ड के इंटर आर्ट्स व साइंस टॉपर्स से मीडिया ने कुछ सवाल पूछे थे। आर्ट्स टॉपर रूबी रॉय ने बताया कि पॉलिटिकल साइंस विषय का सही नाम भी नहीं बता सकी। उसने यह भी बताया कि पॉलिटिकल साइंस में खाना बनाने की जानकारी दी जाती है। उसे परीक्षा के कुल पूर्णांक का भी पता नहीं था। इसी तरह इंटर साइंस के टॉपर प्रोटॉन व इलेक्ट्रॉन के बारे में नहीं बता सके। इसकी खबर मीडिया में आने के बाद बिहार बोर्ड में हड़कम्प मच गया।

देखेंगे, कहां हुई चूक

शिक्षा मंत्री ने कहा कि सरकार की छवि पर आंच नहीं आने दिया जायेगा। सिस्टम में शामिल लोगों की जिम्मेदारी तय की जायेगी। सरकार ने पूरी कड़ाई से परीक्षा ली, हर केंद्र पर सीसीटीवी से निगरानी की गयी। इसके बाद भी कहां चूक हुई, इसे देखा जायेगा।

उन्होंने कहा कि इस मामले में दोषी स्कूल प्रबंधन, बोर्ड और काउंसिल के जिम्मेवार लोगों पर भी कार्रवाई की जायेगी। दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा।

जांची जाएगी टॉपर्स की मेधा

इंटर टॉपर्स पर उठ रहे सवालों पर शिक्षा मंत्री ने कहा कि सभी स्ट्रीम के पांच रैंक तक के टॉपर्स का इंटरव्यू कर उनकी मेधा की जांच की जाएगी। टॉपर्स की लिखित परीक्षा भी होगी। जरूरत पड़ने पर कॉपियों का मिलान किया जाएगा। बोर्ड के अध्यक्ष लालकेश्वर प्रसाद ने कहा कि सच्चाई का पता करने के लिए यह जरूरी है। इंटरव्यू में फेल होने वालो छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। यहां तक कि उनका रिजल्ट भी रद किया जा सकता है। इस बीच आर्ट्स टॉपर रूबी रॉय व साइंस टॉपर सौरव श्रेष्ठ के रिजल्ट पर रोक लगा दी गई है।

बोर्ड चेयरमैन ने मंगलवार को टॉपर्स की कॉपी मंगवाने के आदेश दिए। कॉपियों की जांच स्पेशल टीम करेगी। हफ्ते भर में कार्रवाई होगी। लेकिन, जब टॉपर्स की कॉपी की जांच कई लेवल पर होती है, तब यह फर्जीवाड़ा हुआ कैसे, इसका जवाब बोर्ड के अध्यक्ष को भी देना होगा।  Read more http://www.jagran.com/

Advertisements