Tags

, , , , ,

इन दिनों एक के बाद जहां कांग्रेस पार्टी को चुनाव में करारी शिकस्त मिल रही है तो वहीं दूसरी तरफ इनके अपने लगातार पार्टी को झोरदार झटका देते हुए इस मुश्किल घड़ी में किनारा कर रहे हैं। कांग्रेस पार्टी जहां लोकसभा में मिली करारी शिकस्त और उसके बाद के कई विधानसभा चुनावों में अपनी सरकार खोने के बाद पतन के एक ऐसे रास्ते पर है जहां कोई पार्टी में सर्जरी करने की बात कर रहा है तो कोई नेतृत्व बदलने की। हालत ये है कि कभी कांग्रेस पार्टी के सबसे बड़े वफादार नेता एक-एक कर आज पार्टी से मुंह मोड़ते हुए दिखाई दे रहे हैं।

गुरूदास ने दिया पार्टी को बड़ा झटका

ताज़ा झटका पार्टी को मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और पूर्व केन्द्रीय मंत्री गुरुदास कामत का साथ छोड़ने से लगी है। गुरुदास कामत ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देते हुए राजनीति से भी संन्यास लेने का ऐलान किया है। कामत का ये फैसला कांग्रेस पार्टी के लिए एक बड़ा झटका माने जाने लगा है क्योंकि अगले साल मुंबई निकाय चुनाव होनेवाला है।

पिछले 44 साल से कांग्रेस की सेवा करनेवाले गुरुदास कामत आठवीं, दसवीं, बारहवीं और पंद्रहवीं लोकसभा के सदस्य चुने गए। यूपीए सरकार में उन्होंने कई महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों को भी निभाया था।

अजित जोगी ने बनाई अलग पार्टी

कभी छत्तीसगढ़ में कांग्रेस का सबसे बड़ा चेहरा माने जानेवाले पूर्व मुख्यमंत्री अजित जोगी भी कांग्रेस को इस मुश्किल घड़ी में उनका हाथ छोड़ दिया। अजित जोगी ने अब खुद अपनी पार्टी बना ली और कांग्रेस नेतृत्व पर बातें ना सुनने का आरोप मढ़ कर खुद को हमेशा के लिए किनारा कर लिया। अजित जोगी की पत्नी रेणु जोगी कोटा इलाके से कांग्रेस की विधायक हैं जबकि बेटे अमित जोगी मरवाही से विधायक है। Read more http://www.jagran.com/

Advertisements