Tags

, ,

मनासा क्षेत्र के एक अधेड़ ने कर्ज लेकर दूसरा ब्याह रचाया, लेकिन 4 दिन में ही दुल्हन स्र्पया-पैसा लेकर भाग गई। अब अधेड़ दुल्हन की जालसाजी का शिकार होकर जनसुनवाई के चक्कर लगा रहा है। कलेक्टर ने कार्रवाई के लिए मामले को एसपी के पास भेजा है।

शिकायतकर्ता मनासा विकासखंड के आंत्री माता का दूलीचंद पिता रतनलाल माली (45) है। करीब 4 माह पूर्व दूलीचंद पानपुर (कचनारा के पास) पानपुर के लालू व साथी गोपाल के संपर्क में आया। दोनों ने उसे दूसरी शादी के लिए राजी किया और अब तक कई शादियों का हवाला देते हुए इंदौर की पूजा से शादी रचाई।

करीब 60 हजार स्र्पए कर्ज लेकर दूलीचंद ने शादी की। वह काफी खुश था, लेकिन 4 दिन में ही पूजा नकदी, सोने-चांदी के जेवर व अन्य सामान लेकर भाग गई तभी से दूलीचंद कार्रवाई की मांग कर रहा है।

मनासा पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं किए जाने पर मंगलवार को वह कलेक्टर रजनीश श्रीवास्तव के पास पहुंचा और आपबीती सुनाई। इस पर कलेक्टर ने शिकायतकर्ता को एसपी मनोज कुमार सिंह के कार्यालय पहुंचाया। अब मामले में केंट थाने की एसआई सोनल सिसौदिया जांच कर रही है। सिसौदिया ने बताया कि दूलीचंद माली ने शिकायत आवेदन दिया है, जिसमें दुल्हन पूजा पर नकदी, सोने-चांदी के जेवर व अन्य सामान लेकर भागने का आरोप लगाया गया है। जांच की जा रही है।

पहली पत्नी की मौत

दूलीचंद की पहली पत्नी कुशालबाई की मौत हो चुकी है। दूलीचंद पहली शादी के बाद भानपुरा में घर जमाई के रूप में रह रहा था। प्रसव के दौरान पत्नी कुशालबाई की मौत होने के बाद वह गांव लौट आया।

शादी के लिए सूद पर कर्ज

दूलीचंद मजदूरी करता है। उसने शादी के लिए गांव व बाजार से करीब 1 लाख स्र्पया कर्ज पर लिया, लेकिन दुल्हन के भाग जाने से वह काफी दुखी है।  Read more http://www.jagran.com/

Advertisements