Tags

, , , ,

बहुजन समाज पार्टी से नाता तोडऩे के बाद अब स्वामी प्रसाद मौर्य बसपा के विरोधियों को जोडऩे का मंच तैयार करेंगे। स्वामी प्रसाद ने बसपा से नाता तोडऩे के बाद आज लखनऊ में अपने समर्थकों के साथ बैठक की। अभी वह सारे पत्ते खोलने के मूड में नहीं हैं।

स्वामी प्रसाद ने बैठक के बाद दावा किया कि बहुजन समाज पार्टी छोडऩे वाले पूर्व विधायकों के साथ टिकट पाने से वंचित तथा बसपा में हाशिए पर रह रहे लोगों को जोडऩा मेरा लक्ष्य है। स्वामी प्रसाद ने बताया कि आज की बैठक में भी बहुजन समाज पार्टी के एक दर्जन से अधिक विधायक थे। इसके साथ ही कई पूर्व मंत्री तथा पार्टी के पदाधिकारी भी उनके साथ हैं। अगले कदम के बारे में स्वामी प्रसाद ने बताया कि अलग पार्टी बनाने के साथ ही अन्य निर्णयों पर वह जनमत संग्रह कराएंगे।

स्वामी प्रसाद ने कहा कि अब उनका अगला लक्ष्य 22 सितंबर को लखनऊ में रमा बाई अम्बेडकर मैदान रैली स्थल को भरने का है। स्वामी प्रसाद को भरोसा है कि उनके साथ उत्पीडऩ की लड़ाई में बड़ा जनमानस आएगा। जिससे वह नया मोर्चा खड़ा करेंगे।

मायावती को कहा- महागद्दार की नानी

स्वामी प्रसाद ने अपने समर्थकों के साथ बैठक के बाद उत्तर प्रदेश के सभी राजनीति दलों पर हमला बोला। पहले उनके निशाने पर बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती थीं। स्वामी प्रसाद ने कहा कि मायावती महागद्दार की नानी है। टिकट बेचने के साथ ही वह रियल स्टेट की भी बड़ी दलाल है। उसके लिए पैसा ही सब कुछ है। उसने सारे मिशन तो लात मार दी है। अब सिर्फ दौलत की बेटी को हर तरफ से पैसा बटोरने की हवस है।

समाजवादी पार्टी में गुंडाराज कायम

समाजवादी पार्टी को भी बैठक के बाद स्वामी प्रसाद ने जमकर लताड़ा। स्वामी प्रसाद ने कहा कि इस पार्टी के लोग तो सिर्फ परिवारवाद को बढ़ावा दे रहे हैं। कार्यकर्ता हाशिए पर हैं। इस पार्टी में तो गुंडों को बढ़ावा दिया जा रहा है। समाजवादी पार्टी में अब तो गुंडाराज कायम है।

भाजपा का नारा दंगाराज

स्वामी प्रसाद ने भारतीय जनता पार्टी में जाने की खबर को मात्र अफवाह बताया। उन्होंने कहा कि यह पार्टी तो प्रदेश में हर जगह दंगा कराना चाहती है। जिस तरह से सपा में गुंडाराज है, उसी तरह से भाजपा में हर तरह दंगाराज कायम है।

Read more http://www.jagran.com/

Advertisements